मंगलवार, 12 जनवरी 2016

सावधान पुलिस मंच पर है का लोकार्पण व शोभना सम्मान


दिल्ली : हर वर्ष की भांति इस बार भी शोभना वेलफेयर सोसाइटी ने शोभना सम्मान समारोह का आयोजन किया। यह सोसाइटी द्वारा आयोजित तीसरा सम्मान समारोह था। इस बार भी सोसाइटी द्वारा देश भर से विभिन्न क्षेत्रों में अपना सक्रिय योगदान देनेवाले सुधीजनों को शोभना सम्मान-2015 से विभूषित किया गया। यह सम्मान समारोह आज दिनांक 9 जनवरी, 2016 को नई दिल्ली में प्रगति मैदान में आयोजित होनेवाले विश्व पुस्तक मेले में लेखक मंच पर दोपहर 2.30 से सांय 4 बजे के बीच आयोजित किया गया। 


इस सम्मान समारोह के मुख्य अतिथि प्रसिद्ध व्यंग्यकार डॉ. हरीश नवल थे तथा कार्यक्रम की अध्यक्षता व्यंग्ययात्रा त्रैमासिक पत्रिका के संपादक डॉ. प्रेम जनमेजय ने की। कार्यक्रम के विशिष्ट अतिथि की भूमिका वरिष्ठ साहित्यकार प्रताप सहगल ने निभाई एवं सानिध्य रहा शोभना वेलफेयर सोसाइटी की अध्यक्षा शोभना तोमर का तथा इस कार्यक्रम का सफल संचालन युवा साहित्यकार सुमित प्रताप सिंह ने किया। कार्यक्रम का शुभारंभ युवा साहित्यकार सुमित प्रताप सिंह की चौथी पुस्तक ‘सावधान पुलिस मंच पर है’ का लोकार्पण करके किया गया। 

पुस्तक लोकार्पण के पश्चात् सुमित ने अपनी चिर-परिचित विशिष्ट शैली में इसी पुस्तक में संग्रहित ‘अच्छा है बकरापन’ कविता सुनाकर श्रोताओं का मनोरंजन किया। हल्द्वानी के युवा व्यंग्यकार ने सुमित की लेखन शैली पर अपना वक्तव्य देते हुए बताया कि सुमित की लेखन शैली बिलकुल अलग प्रकार की है और उनके द्वारा लेखन में लिए गए नए-नए विषय हरिशंकर परसाईं की लेखन शैली का स्मरण कराते हैं। मुख्य अतिथि डॉ. हरीश नवल ने कहा कि सुमित के लेखन में अपार संभावनाएँ हैं। उन्होंने कहा कि इस पुस्तक में विभिन्न रस मौजूद हैं और सुमित की विशेषता है कि इनके लेखन में मलीनता नहीं है। सुमित यदि हास्य लिखना आरंभ करते हैं तो उसे पढ़कर निर्मल आनंद की अनुभूति होती है और इनका श्रृंगार रस में लेखन अच्छा है। इसके साथ उन्होंने सुमित को लेखन में सुनहरे भविष्य की शुभकामनाएँ दी. श्रीमती शशि सहगल ने सुमित की पुस्तक की प्रशंसा की और उनकी कविता ‘एक लड़की मुझको भाती है’ को विशेष रूप से सराहा। विशिष्ट अतिथि प्रताप सहगल व कार्यक्रम के अध्यक्ष डॉ. प्रेम जनमेजय के अध्यक्षीय भाषण के उपरांत शोभना सम्मान-2015 का वितरण किया गया।
शोभना सम्मान-2015 प्राप्त करनेवालों की सूची निम्नलिखित है : -
साहित्य- श्री बलराम, श्री सूरज प्रकाश, श्री अनूप श्रीवास्तव, लघुकथा साहित्य - श्री श्याम सुन्दर अग्रवाल, संपादन- डॉ. राकेश पाण्डेय, डॉ. रणविजय राव, श्री आशीष कंधवे, श्रीमती शिल्पा श्रीवास्तव, श्री प्रदीप कुमार, श्री अनूप वाजपेयी, समाज सेवा– श्री गोपाल भगत एवं डॉ. अनुभूति भटनागर, कला- सुश्री अर्चना शाह अग्रवाल, आलोचना - डॉ. रमेश तिवारी, व्यंग्य - श्री गौरव त्रिपाठी, कंप्यूटर शिक्षा- श्री नितिन जैन
कार्यक्रम के अंत में डॉ. राकेश पांडेय द्वारा वरिष्ठ साहित्यकार रवीन्द्र कालिया के निधन के विषय में सूचित किए जाने पर शोभना सम्मान समारोह के उपरांत दो मिनट का मौन रखकर उनकी दिवंगत आत्मा के लिए शांति की प्रार्थना की गयी।
इस अवसर पर सोसाइटी के सचिव धैर्य प्रताप सिकरवार, संयुक्त सचिव मोहन कुमार, वरिष्ठ पत्रकार गुलशन भाटी, रामजनम सिंह, वेद प्रकाश शास्त्री, बी.के.सिंह, रशीद अहमद, मो. रेहान व रविन्द्र चौहान इत्यादि सुधीजन मौजूद रहे।

रिपोर्ट : संगीता सिंह तोमर 

एक टिप्पणी भेजें
Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...